सीमित तलाक

सीमित तलाक को कानूनी अलगाव के रूप में भी जाना जाता है। अलगाव, हालांकि, एक विशेष कानूनी प्रक्रिया है जो पति-पत्नी को अलग-अलग रहने की अनुमति देती है, लेकिन एक ही समय में कानूनी रूप से विवाहित रहती है। इस अर्थ में, यह प्रक्रिया जीवनसाथी की जरूरतों को पूरा करती है, जो अपने धार्मिक या दार्शनिक विश्वासों के कारण तलाक लेने की इच्छा नहीं रखते हैं।

Law & More B.V.